प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय अधिवेशन में 400 के पार नारों के साथ एकमात्र जीत का दिया मंत्र, 100 दिन के टास्क पर चर्चा"

“प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय अधिवेशन में 400 के पार नारों के साथ एकमात्र जीत का दिया मंत्र, 100 दिन के टास्क पर चर्चा”

"प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय अधिवेशन में 400 के पार नारों के साथ एकमात्र जीत का दिया मंत्र, 100 दिन के टास्क पर चर्चा" प्रधानमंत्री

नई दिल्ली। भारत मंडपम में चल रहे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का समापन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन के साथ हुआ। दो दिवसीय बैठक के अंतिम दिन रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में सभी कार्यकर्ताओं के लिए लोकसभा चुनाव में जीत पक्की करने के साथ सीटों की संख्या को 400 के पार का लक्ष्य रखा। इसके साथ लोकसभा चुनाव में जीत का विश्वास जताया।

100 दिन का दिया टास्क

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘अगले 100 दिन में हमें जुट जाना है। सभी वोटरों तक पहुंचना है। हर वर्ग, हर परंपरा तक पहुंचना है। हमें सबका विश्वास हासिल करना है और यह सबका प्रयास होगा तो देश की सेवा के लिए सबसे ज्यादा सीटें भी भाजपा को ही मिलेंगी।’

कांग्रेस के खिलाफ लाया गया प्रस्ताव

राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे दिन की बैठक में अध्यक्ष जेपी नड्डा राम मंदिर पर प्रस्ताव लेकर आए। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस और इंडिया ब्लॉक के खिलाफ प्रस्ताव रखा। दोनों प्रस्ताव का समर्थन मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र यादव, पश्चिम बंगाल से सांसद लॉकेट चटर्जी के साथ कई नेताओं ने किया।

कांग्रेस के खिलाफ प्रस्ताव पर बोलते हुए अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि केरल में भाजपा के 100 से ज्यादा कार्यकर्ता शहीद हो गए। वहां इंडी गठबंधन का शासन है। पश्चिम बंगाल में हमारे सैकड़ों कार्यकर्ता मौत के घाट उतार दिए गए, हमेशा वहां चुनाव में धांधली, घपलेबाजी और हिंसा होती रही। वहां भी इंडी गठबंधन और ममता बनर्जी का शासन है। हम तो हिंसा के भुक्तभोगी हैं। दूर-दूर तक घमंडिया गठबंधन को सत्ता प्राप्ति की संभावना नहीं दिखती है। कांग्रेस पार्टी और इनके गठबंधन ने अनुच्छेद-370 हटाने, तीन तलाक, नारी शक्ति वंदन अधिनियम का भी विरोध किया।

भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में जारी किया गया श्वेत पत्र

भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान अर्थव्यवस्था पर लाए गए श्वेत पत्र को जारी किया गया। इस श्वेत पत्र में यूपीए सरकार के 10 वर्षों के कार्यकाल की अनियमितताओं के बारे में बताया गया है। राष्ट्रीय अधिवेशन के समापन के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन की अध्यक्षता की। बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। इसके बाद विस्तारकों के साथ भी बैठक की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *